कंपनी शेयर्स क्यों जारी करती है? Why company issue shares in Hindi?

कंपनी शेयर्स क्यों जारी करती है? Why company issue shares in Hindi?

शेयर कौन जारी करता है? (Why company issue shares in hindi): कंपनियां अपने शेयर्स जारी कर निवेशकों से एक बड़ी पूंजी प्राप्त करती है, ताकि अपने व्यवसाय का विकास और विस्तार कर सके।

जी हाँ, किसी भी कम्पनी को अपने व्यवसाय के विस्तार, विकास और वृद्धि के लिए उसे पूंजी की आवश्यकता होती है और वह कम्पनी अपने शेयर्स जारी कर निवेशकों से लम्बे समय के लिए ब्याज-रहित (Interest-Free) पूंजी प्राप्त करती है।

कम्पनियाँ बिज़नेस को प्रारम्भ करने के लिए स्वयं की पूंजी लगाती है, बैंकों से ब्याज पर व्यवसायिक लोन लेती है और देश के शेयर मार्केट में रजिस्टर्ड होकर आम जनता (निवेशकों) से अपने शेयर्स जारी कर पूंजी जूटाती है। इस प्रकार कंपनी को अपने व्यवसाय के विकास, विस्तार और नवाचार के लिए पूंजी मिल जाती है।

जिस प्रक्रिया से कम्पनियाँ पहली बार पूंजी जूटाती है उसे इनिशियल पब्लिक ऑफर (आईपीओ) कहा जाता है और इसे प्राथमिक बाजार के रूप में जाना जाता है।

कम्पनियाँ पूंजी जूटाने के लिए विभिन्न प्रकार के शेयर्स जारी करती है। जैसे – साधारण शेयर, वरीयता शेयर, संचयी वरीयता शेयर, वोटिंग अधिकार के बिना शेयर या किसी अन्य शेयर। (Ordinary shares, preference shares, cumulative preference shares, shares without voting rights or any other shares.)

राइट्स इश्यू क्या है? What is right issue in Hindi?

पूंजी जुटाने के लिए स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनियां राइट्स इश्यू लाती है। कंपनियां राइट्स इश्यू के जरिए अपने शेयरधारकों को अतिरिक्त शेयर खरीदने का अवसर देती है। एक तय अनुपात में कंपनियां निवेशकों के लिए अपने राइट्स इश्यू लेकर आती है।

कंपनियां क्यों लाती है राइट्स इश्यू?

कंपनियों के अपने लक्ष्य और दायित्व होते है और इन्हे समय पर पूरा करने का प्रयास होता है। इसी क्रम में जैसे कारोबार में विस्तार करना हो या किसी दूसरी कंपनी का अधिग्रहण करना हो या फिर कर्ज के बोझ को कम करना हो, कंपनियां राइट्स इश्यू लाकर अतिरिक्त पूंजी जुटाने का प्रयास करती है।

विस्तार से पढ़ें –

Share this:

Leave a Comment