What is Stock Exchange in Hindi_स्टॉक एक्सचेंज क्या है?

What is Stock Exchange in Hindi? स्टॉक एक्सचेंज क्या है?

What is Stock Exchange in Hindi? स्टॉक एक्सचेंज क्या है?: फ्रैंड्स, Exchange शब्द से हम सभी परिचित है। Exchange एक स्थान होता है, जहां वस्तु/सेवा का कारोबार किया जाता है। जहां उत्पादक और उपभोक्ता या खरीदार और विक्रेता आपस में मिलते हैं और वस्तु/सेवा की खरीदी और बिक्री करते हैं।

ठीक वैसे ही वित्तीय उत्पादों (Financial Products) के मामलें में, व्यापार की जाने वाली इन चीजों में शेयर, मुद्राएं, बॉन्ड, डेरिवेटिव्स इत्यादि शामिल होती हैं।

(Stock Exchange Meaning in Hindi): इस प्रकार स्टॉक एक्सचेंज एक ऐसा माध्यम होता है जिसके द्वारा शेयर, बॉन्ड, डेरिवेटिव्स और मुद्रा की खरीदी-बिक्री का कार्य किया जाता है।

पहले यह काम मैनुअल तरीके से किया जाता था, लेकिन आधुनिक टेक्नॉलॉजी के कारण स्टॉक एक्सचेंज की पूरी ट्रेडिंग ऑनलाइन की जाती है. टेक्नोलॉजी और इंटरनेट के विस्तार के कारण आज आप घर बैठे ही कंप्यूटर पर, अपने स्टॉक ब्रोकर को फोन कर या स्वयं अपने स्मार्टफोन मोबाइल के द्वारा आसानी से शेयर्स की Online Trading कर सकते हैं।

स्टॉक एक्सचेंज का इतिहास – Stock Exchange History

सन 1602 में Dutch East India Company के द्वारा विश्व का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज Netherland में स्थापित किया गया था।
प्रारम्भ में शेयर मार्किट के सभी लेन-देन सर्टिफिकेट्स के बेसिस पर होते थे। अब वर्तमान में सभी लेन-देन इलेट्रॉनिक तरीके (डीमैट्रिलाइजेशन) से पूरे किये जाते है।

भारत में स्टॉक एक्सचेंज (Stock Exchange In India): भारत में कुल 23 स्टॉक एक्सचेंज है। National Stock Exchange और Bombay Stock Exchange भारत के राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज है। 21 क्षेत्रीय स्टॉक एक्सचेंज है।

NSE (National Stock Exchange): NSE सन 1992 में चालू किया गया। NSE भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है, जहाँ पर सर्वाधिक वॉल्यूम में शेयर ट्रेडिंग होती है। निफ़्टी 50 NSE का प्रमुख Index (सूचकांक) है।

BSE (Bombay Stock Exchange): सन 1875 में स्थापित BSE भारत का सबसे पुराना और दूसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। सेंसेक्स 30 BSE का प्रमुख Index (सूचकांक) है। 5000 से भी ज्यादा कंपनियां BSE में लिस्टेड है।

स्टॉक एक्सचेंज के कार्य (फंक्शन):

पूँजी निर्माण (Capital formation): स्टॉक एक्सचेंज देश अर्थव्यवस्था के विकास में सर्वाधिक महत्वपूर्ण पूंजी की जरूरतों को पूरा करने का कार्य और प्रयास करता है। स्टॉक एक्सचेंज देश में पूंजी निर्माण का कार्य करता है।
कैपिटल फ्लो को बढ़ाना: स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा पूंजी का प्रवाह (Capital Flow) बढ़ता है। स्टॉक एक्सचेंज देश में विकास के लिए आंतरिक और बाह्य पूंजी के प्रवाह को बढ़ाने का प्रयास करती है।
स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर्ड कंपनियों की जानकारी देना: स्टॉक एक्सचेंज रजिस्टर्ड कंपनियों की संपूर्ण जानकारियां और आर्थिक सूचनाएं निवेशकों को उपलब्ध करवाती है।
गोपनीयता और पारदर्शिता: स्टॉक एक्सचेंज निवेशकों के हितों की सुरक्षा करने के साथ ही संपूर्ण लेनदेनों में गोपनीयता और पारदर्शिता को बनाने का कार्य करती है।
नई पूंजी जुटाना: स्टॉक एक्सचेंज रजिस्टर्ड नए कंपनियों के लिए IPO के जरिये नई पूंजी जुटाने का प्रयास करती है।

स्टॉक एक्सचेंज का कार्य करने का समय क्या है?
स्टॉक एक्सचेंज का कार्य करने का समय सुबह 09:00 बजे से लेकर दोपहर 09:30 बजे तक होता है। 09:०० बजे 09:15 तक प्री मार्केट सेशन का समय होता है।

 

विस्तार से पढ़ें –

Share this:

Leave a Comment

error: Content is protected !