नेशनल स्टॉक एक्सचेंज_National Stock Exchange _NSE kya hai?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज | National Stock Exchange | NSE kya hai? |

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE in Hindi): फ्रेंड्स आज हम India के स्टॉक एक्सचेंजों के बारे में बात करेंगे। भारत में Indian Stock Market के विकास और विस्तार के बारे में चर्चा करेंगे कि, कैसे India में शेयर मार्केट प्रारंभ हुआ? और वर्तमान में यह स्टॉक एक्सचेंज कैसे Indian Economy के Development में अपना योगदान दे रहे हैं।

फ्रेंड्स इंडियन शेयर मार्केट में मुख्यतया दो बड़े स्टॉक एक्सचेंज के नाम हम सभी सुना करते हैं – पहला बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और दूसरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज। इसके अलावा कुछ रीजनल स्टॉक एक्सचेंज भी चालू किए गए थे।

फ्रैंड्स आज हम नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के बारे में बात करेंगे:-

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE in Hindi) | NSE kya hai?

कैसे यह बनाया गया और कैसे यह काम करता है। क्या-क्या सेवाएं NSE के द्वारा दी जाती है।

NSE (National Stock Exchange) भारत का अग्रणी स्टॉक एक्सचेंज है।

वर्ष 1992 में फेरवानी कमिटी की सिफ़ारिश के NSE को शामिल किया गया था।

अप्रैल 1993 में SEBI द्वारा एनएसई को स्टॉक एक्सचेंज के रूप में मान्यता दी गई थी।

वर्ष 1994 में थोक ऋण बाजार (Wholesale Loan Market) की शुरुआत के साथ परिचालन शुरू किया गया था। उसके बाद Cash Market Segment को चालू किया गया था।

वर्ष 1994 में स्थापना से लेकर अब तक NSE ने बहुत से Milestones अपने उत्पादों और व्यवसाय में स्थापित किये है।

World Federation of Exchanges (WFE) के अनुसार जनवरी से जून 2018 तक इक्विटी शेयरों में ट्रेडों की संख्या के हिसाब से NSE दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है।

1994 में NSE ने इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन-आधारित ट्रेडिंग, इंडेक्स ट्रेडिंग (इंडेक्स फ्यूचर्स के रूप में) और वर्ष में 2000 में इंटरनेट ट्रेडिंग की शुरूआत की।

NSE देश में एक आधुनिक, पूरी तरह से स्वचालित स्क्रीन-आधारित इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम प्रदान करने वाला पहला एक्सचेंज था।

NSE के अपने कार्यों में ट्रेडिंग, एक्सचेंज लिस्टिंग, क्लियरिंग और सेटलमेंट, सूचकांक, बाजार डेटा फीड, प्रौद्योगिकी समाधान और वित्तीय शिक्षा को पूरा करता है।

प्रौद्योगिकी के मामले में NSE अग्रणी है। प्रौद्योगिकी में इनोवेशन एवं निवेश की संस्कृति के माध्यम से अपने सिस्टम की विश्वसनीयता और प्रदर्शन सुनिश्चित करता है।

Nifty kya hai? |Nifty 50 (निफ़्टी ५०) | What is Nifty in hindi?

 Nifty 50 (निफ़्टी ५०) – The National Index Fifty | नेशनल इंडेक्स फिफ्टी (Nifty meaning in hindi)

Indian Stock Market के लिए Nifty 50 इंडेक्स नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया का बेंचमार्क स्टॉक मार्केट इंडेक्स है। निफ्टी का फुल फॉर्म नेशनल इंडेक्स फिफ्टी है। Nifty में कुल 50 कम्पनियाँ शामिल है।

Indian Stock Market में Nifty एक बहुत ही प्रसिद्ध इंडेक्स है जो शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव इंडिकेट करता है और शेयर बाजार के रुझान को दर्शाता है।

विस्तार से पढ़ें – Nifty kya hai? निफ़्टी क्या है? What is Nifty in hindi?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के Milestones और Developments –

1          1993   NSE की स्टॉक एक्सचेंज के रूप में स्थापना

2          1994   Electronic or screen-based trade.

3          1996   CNX NIFTY 50 INDEX की प्रमुख सूचकांक के रूप में शुरुआत।

4          2000   Launch of index futures based on the NIFTY 50 index for trading.

5          2001   Launched index options based on the NIFTY 50 index.

6          2001   Listed SINGLE STOCK में FUTURE और OPTION की शुरुआत।

7          2001   NIFTY 50 पे आधारित INDEX OPTION TRADING की शुरुआत।

8          2010   CURRENCY TRADING की शुरुआत।

9          2013   New Debt Segment (NDS) की शुरुआत।

10        2015   इंडेक्स CNX निफ्टी के नाम को NIFTY-50 कर दिया गया।

11         2016   Sovereign Gold Bond जारी करने के लिए TAIFEX Launched platform पर NIFTY-50 Index futures कारोबार शुरू किया।

विस्तार से पढ़ें –

Share this:

Leave a Comment