Share Meaning in Hindi_Share in Hindi.

शेयर क्या है? | What is Share in Hindi?

Share Meaning in Hindi: क्या आप Share Market में नए है? तो आइए हम इसे बहुत ही बुनियादी जानकारियों और सरलता के साथ समझने का प्रयास करते है।

फ्रैंड्स, सामान्य शब्दों में Share का अर्थ होता है: अंश या हिस्सा या भागीदारी

शेयर क्या है?

Share Market में सूचीबद्ध कंपनियों में हिस्सेदारी अर्थात शेयर, किसी कंपनी के “स्वामित्व की भागीदारी” को Represent (प्रतिनिधित्व) करता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो कंपनियों का जितना शेयर आपके पास होता है, उतना आपके पास कंपनी का Ownership (स्वामित्व) होता है।

शेयर मार्केट के संदर्भ में शेयर का अर्थ कंपनियों के द्वारा जारी किये गए शेयर से है। शेयर या अंश का मतलब आपके पास यदि किसी कंपनी के शेयर है तो आप उस कंपनी के उतने हिस्से के मालिक बन जाते हैं जितने के शेयर आपके पास हैं। इस तरह आप कम्पनी के जितने शेयर्स खरीदेंगे उतने ही हिस्से की आपकी ओनरशिप रहेगी।

Share Market की शब्दावली में Share को Stock, Equity, और प्रतिभूति के नाम से भी जाना जाता है।

Share Market में शेयर कंपनियों के Capital (शेयर पूंजी) का एक हिस्सा/अंश होता है।

आइए हम इसे एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं:-

जैसे किसी ABC नामक Company ने ₹1,00,000 की कुल पूंजी के साथ 10,000 Shares जारी किए, अब अगर Company की कुल पूंजी को उसके कुल Shares से Divide कर दिया जाए,तो कंपनी के 1 शेयर की वैल्यू ₹10 होती है।

Per Share Value = कुल पूंजी / कुल शेयर  » ₹10 = ₹1,00,000 / 10,000

अगर आप किसी Company के 100 शेयर ₹10 के भाव से खरीदते हैं तो आप Company के ₹1,00,000 की कुल पूंजी में 100 शेयर के हिसाब से ₹1,000 का स्वामित्व रखते हैं।

Share Meaning in Hindi: इस प्रकार किसी कंपनी का जितने मूल्य का आप शेयर खरीदते हैं, उतना आपका स्वामित्व उस Company पर होता है।

शेयर होल्डर (Shareholder) क्या है?

शेयर होल्डर या शेयरधारक किसी कंपनी के शेयर को खरीदने वाला व्यक्ति, संस्थान या कंपनी होता है। शेयर होल्डर शेयर्स खरीदकर कंपनी में पैसा लगाता है। शेयर होल्डर एक तरह कंपनी का मालिक होता है। शेयरधारिता के साथ-साथ उसे कंपनी को लेकर कुछ अधिकार भी मिलते है।

शेयर की परिभाषा/अंश की परिभाषा:-

शेयर मार्केट में तकनीकी तौर पर शेयर को एक सर्टिफिकेट या प्रमाण पत्र के रूप में जाना जाता है, जो किसी Company को पूंजी के रूप में दी गई राशि को प्रमाणित करता है। इसे Share Certificate या Stock Certificate कहा जाता है।

share certificate

शुरुआत में शेयर मैनुअली कागज के सर्टिफिकेट के रूप में प्रचलित थे, लेकिन वर्तमान में अब इसका भी डीमैटरिलाइजेशन कर दिया गया है और सभी Shares अब डीमैटरिलाइज (डिजिटल) रूप से रखे जाते हैं.  इसके लिए Demat Account खोला जाता है,जहाँ पर Shares रखे जाते हैं।

इन्हें भी विस्तार से पढ़ें (Related Post) –

Share this:

Leave a Comment