Importance of Financial Planning in Hindi

फाइनेंसियल प्लानिंग का महत्व | Importance of Financial Planning in Hindi

Importance of Financial Planning: फ्रैंड्स, किसी भी व्यक्ति के लिए फाइनेंसियल प्लानिंग बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह न केवल आपके जीवन को व्यवस्थित करता है, बल्कि आपके परिवार के अन्य सदस्यों की इच्छाओं और जरूरतों को भी पूरा करता है।

फाइनेंसियल प्लानिंग का महत्व

फाइनेंसियल प्लानिंग क्यों महत्वपूर्ण है? इसे हम निम्न बिंदुओं से समझने का प्रयास करते हैं:

रिटायरमेंट फंड को तैयार करना (Retirement Fund)

रिटायरमेंट के बाद आप अपने परिवार के साथ अधिक समय व्यतीत कर पाते हैं।

रिश्तेदारी और कई अन्य जगहों पर आपका जाना और घूमना होता है। आप एक आनंद पूर्ण जीवन जीना चाहते हैं, लेकिन इन सभी के लिए आपके पास पर्याप्त मात्रा में धन का होना अनिवार्य है।

आप अपने खर्चों को तभी उठा पाएंगे जब आपके पास रिटायरमेंट के बाद पर्याप्त मात्रा में फण्ड हो। इसलिए फाइनेंसियल प्लानिंग कर अपने रिटायरमेंट फण्ड और पेंशन प्लान इत्यादि के बारे में अभी से विचार करें।

महंगाई से निपटना (Inflation)

फ्रैंड्स, बढ़ती हुई महंगाई हम सभी खर्च में वृद्धि ले आती है। अक्सर आपने यह अनुभव किया होगा जब भी हम बाजार से कुछ सामान लेकर आते हैं, तो हमारे घर के बड़े बुजुर्ग समान की कीमतों को लेकर आपसे यह कहते हैं कि, हमारे समय में इस सामान की कीमत बहुत ही कम थी।

मतलब आज जो सामान आप 100 रूपए में खरीद रहे हैं। आज से 20 साल पहले इसकी कीमत लगभग 10 से 20 रूपए की रही होगी।

समय के साथ-साथ महंगाई (वस्तुओं की कीमतें) बढ़ने लगती है और अगर आप इस पर सावधानी नहीं बरतते तो यह आपके सेविंग्स को भी खा जाती है।

मसलन अभी आपके पास 1,000 रूपए है और एक लीटर फ़ूड आयल पैकेट की क़ीमत 100 रूपए है। अभी आप इसके 10 पैकेट खरीद सकते है। मान लीजिए आप अपने 1000 रूपए को एक बैंक में जमा करते है, जिस पर आपको 6% का वार्षिक ब्याज़ मिलता है। तो वर्ष के अंत में आपके पास कुल बचत 1060 रूपए होंगे।

लेकिन एक साल में मान लें कि, उस एक लीटर फ़ूड आयल पैकेट की क़ीमत 100 रूपए से बढ़कर 110 रूपए हो जाती है। तो अब आपको उस एक लीटर फ़ूड आयल के 10 पैकेट को खरीदने के लिए 1100 चाहिए होंगे। जबकि आपके पास कुल बचत 1060 रूपए ही है।

इसप्रकार बढ़ती हुई महंगाई आपकी क्रय-शक्ति को कम कर देती है और उसी सामान को खरीदने के लिए आपको पहले से अधिक पैसे खर्च करने पड़ते है।

इसीलिए फाइनेंसियल प्लानिंग (Importance of Financial Planning) के द्वारा एक बेहतर रिटर्न देने वाले निवेश विकल्पों को चुनकर बढ़ती हुई महंगाई से निपटा जा-सकता है।

आकस्मिक निधि को तैयार करना (Contingency Fund)

निश्चित तौर पर हमारा भविष्य अनिश्चित होता है। जीवन में कभी भी किसी भी प्रकार के इंसीडेंट हो सकते हैं और इन सब के लिए भी हमें हमेशा तैयार रहना पड़ता है।

आपने अपने बच्चे के हायर एजुकेशन के लिए एजुकेशन लोन ले रखा है।

साथ ही आप अपने रिटायरमेंट फंड (पेंशन) के लिए भी पैसे बचा रहे हैं, लेकिन इसी बीच अचानक परिवार कुछ मेडिकल इमरजेंसी हो जाती है। तो यह आपके लिए बहुत परेशानी भरा समय होता है।

आपकी परेशानी तब और बढ़ जाती है जब आप ऐसी किसी घटना के लिए कोई भी हेल्थ इंश्योरेंस नहीं करा पाएं है।

आपको अपने दूसरे बचत फंडों से इस समस्या से निपटना पड़ता है और इस प्रकार आपका पूरा बजट प्रभावित हो जाता है। इसी प्रकार की अन्य अप्रत्याशित घटनाओं इमरजेंसी से निपटने के लिए एक आकस्मिक निधि को तैयार करना जरूरी होता है।

आय का प्रबंधन

फ्रैंड्स, इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि, कर भुगतान, मासिक व्यय, बचत और अन्य व्ययों के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होगी। आप फाइनेंसियल प्लानिंग से अपनी आय का बेहतर प्रबंधन कर सकते है।

कैश फ्लो का प्रबंधन (Cash Flow Management)

फाइनेंसियल प्लानिंग में अपनी कैश फ्लो को मैनेज करने का प्रयास करें। खर्च करने के तरीकों और खर्चों की सावधानीपूर्वक निगरानी करके अपनी नकदी प्रवाह बढ़ाने का प्रयास करें।

पूंजी या सम्पत्ति निर्माण (Capital Formation)

आपके कैश फ्लो के बढ़ने से आपकी पूंजी या सम्पत्ति में भी वृद्धि हो सकती है। रणनीतिक और दीर्घकालिक निवेश आपके पूंजी की मात्रा में वृद्धि करती है।

वित्तीय जागरूकता

एक बेहतर फाइनेंसियल प्लानिंग करने से वित्तीय मामलों पर हम सभी की रूचि व जागरूकता (Financial Education in Hindi) धीरे-धीरे बढ़ने लगती है। हम अपने द्वारा लिए गए निर्णयों के प्रभाव और परिणामों की समीक्षा करते है। इससे हमें अपने बजट के लिए एक नया दृष्टिकोण मिलता है।

पैसों का बेहतर तरीके से प्रबंधन करना (Money Management)

फ्रैंड्स, फाइनेंसियल प्लानिंग के द्वारा आप अपने पैसों का बेहतर तरीके से प्रबंधन कर सकते हैं। आपके परिवार के सदस्यों की विभिन्न प्रकार की जरूरतें और इच्छाएं होती हैं। उन्हें भी समय पर पूरा करना आपका दायित्व हो जाता है।

इसलिए आप अपनी जरूरत के अनुसार एक बेहतर निवेश माध्यमों की पहचान कर उस पर निवेश की योजना तैयार कर सकते हैं।

फाइनेंसियल प्लानिंग हम सभी के लिए काफी महत्वपूर्ण (Importance of Financial Planning) होता है। जीवन के हर मोड़ पर हर एक व्यक्ति के लिए एक नई चुनौती तैयार होती जाती है और उस चुनौती में एक बहुत बड़ा आर्थिक दायित्व व्यक्ति को उठाना पड़ता है।

इन सभी बड़े खर्चों को आप तभी पूरा कर पाते हैं जब आपके पास सही समय पर अर्थात ज़रूरत के समय पर्याप्त मात्रा में धन उपलब्ध हो।

इसलिए हमेशा जीवन के संभावित ख़र्चों व दायित्वों को ध्यान में रखते हुए अपने लिए एक बेहतर फाइनेंसियल प्लानिंग को तैयार करना हम सभी के लिए हमेशा फायदेमंद होता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आशा करता हूँ कि, आपको यह आर्टिकल फाइनेंसियल प्लानिंग का महत्व (Importance of Financial Planning in Hindi) पढ़कर अच्छा लगा होगा और फाइनेंसियल प्लानिंग के महत्व से जुड़ी ये जानकारियां आपके लिए फायदेमंद रही होगी।

अगर आपको फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning ka Mahatva) से जुड़ा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने परिचितों और शेयर मार्केट/फाइनेंसियल प्लानिंग को जानने-सीखने के लिए इच्छुक लोगों के साथ इसे शेयर ज़रूर करें।

इस विषय पर आपके और कोई आपके प्रश्न है, तो आप नीचे Comment Section में ज़रूर लिखें। हम आपके सवालों का जवाब देने प्रयास करेंगे। शेयर मार्केट और फाइनेंसियल प्लानिंग जुड़ी नयी जानकारियों के लिए इस वेबसाइट से जुड़े रहें।

इन्हें भी विस्तार से पढ़ें (Related Post) –

Share this:

Leave a Comment

error: Content is protected !