GDP kya hai

जीडीपी क्या है? | What is GDP in Hindi?

GDP kya hai: फ्रेंड्स, जीडीपी किसी भी देश के राष्ट्रीय आय को मापने का एक तरीका है। जैसे हम अपनी आय की विभिन्न उसको तो जानने और मापने का प्रयास करते हैं, ठीक वैसे ही किसी भी देश या राज्य की सरकार अपने समस्त आय (संसाधन) के स्रोतों को जानने और मापने का प्रयास करती है।

जीडीपी (Gross Domestic Product) के द्वारा हमें किसी भी देश की इकोनामी के स्ट्रैंथ के बारे में जानकारी मिलती है। हम उस देश की जीडीपी की साइज के आधार पर उसकी आर्थिक क्षमता मापने का प्रयास करते हैं।

किसी देश  GDP ka matlab उस देश की समस्त आर्थिक क्रियाकलापों का व्यापक तौर पर माप।

तो आइए अब समझने का प्रयास करते हैं कि, जीडीपी क्या है (GDP kya hai)?

परिभाषा (GDP definition in hindi): जीडीपी एक समय अवधि (वित्तीय वर्ष) के दौरान एक सीमा (देश की सीमा) के भीतर उत्पादित की गई अंतिम वस्तुओं एवं सेवाओं का कुल मौद्रिक मूल्य होती है।

GDP को हिंदी भाषा में (GDP full form in Hindi) – सकल घऱेलू उत्पाद (Gross Domestic Product) कहा जाता है।

GDP meaning in hindi – जीडीपी की गणना प्रायः वार्षिक तौर पर की जाती है और जीडीपी की गणना का देश की सीमा में की जाती है। मतलब देश की सीमा के अंदर उत्पादन की जाने वाली अंतिम वस्तुओं एवं सेवाओं की गणना कर उसका मौद्रिक मूल्य (Monetary Value) निकाला जाता है।

GDP kaise Calculate karte hai?

जीडीपी की गणना तीन प्रकार से की जाती है:

उत्पादन विधि (Production Method) – इसमें उत्पादित वस्तुओं की लागतों को जोड़कर जीडीपी निकाला जाता है।

आय विधि (Income Method) – इसमें सभी प्रकार के आयों को जोड़कर जीडीपी निकाला जाता है।

व्यय विधि (Expenditure Method) – इसमें सभी प्रकार के व्ययों को जोड़कर जीडीपी निकाला जाता है।

इसमें सबसे प्रचलित तरीका व्यय विधि (Expenditure Method) से निकाले जाने वाली जीडीपी गणना है।

Formula of GDP in Hindi:

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + सकल निवेश (Gross Investment) + सरकारी व्यय (Government Expenditure) + निर्यात – आयात (Export-Import)।

GDP (सकल घरेलू उत्पाद ) = C. + I. + G. + (X − M)

उपभोग (Consumption) – उपभोग में घरेलू स्तर के व्यय जुड़े होते है, जैसे- भोजन, किराया, शिक्षा, चिकित्सा-स्वास्थ्य के व्यय इत्यादि।

सकल निवेश (Gross Investment) – कंस्यूमर प्रोडक्ट्स (उपभोक्ता वस्तुओं और सेवाओं) पर किया जाने वाले व्यय जुड़े होते है। यह देश की सीमा के अंदर वस्तुओं और सेवाओं पर सभी इंस्टीट्यूशन द्वारा किये गये कुल व्यय का मापन करता है।

सरकारी व्यय (Government Expenditure) – सभी प्रकार के सरकारी व्यय शामिल होते है। जैसे: विभागों के खर्चें, कर्मचारियों के वेतन और सरकार के निवेश इत्यादि शामिल होते है।

निर्यात – आयात (Export-Import) – निर्यात (Exports) में दूसरे देशों के लिए तैयार किये गए वस्तुओं या सेवाओं को शामिल किया जाता है और GDP (सकल घरेलू उत्पाद) में जोड़ा जाता है।

आयात (Exports) में दूसरे देशों से आयात की गई वस्तुएँ व सेवाएं शामिल होती है और इन्हें GDP (सकल घरेलू उत्पाद) में घटाया जाता है।

GDP के प्रकार

चूँकि GDP के द्वारा हम उत्पादित की वस्तुओं एवं सेवाओं की मौद्रिक मूल्यों की गणना कर रहे है, तो मुद्रा के मूल्यों के आधार पर GDP के प्रकार भी होते है:

वास्तविक जीडीपी (Real GDP) – जब GDP की गणना कॉन्स्टेंट प्राइस (आधार वर्ष) पर की जाती है, तो इसे वास्तविक जीडीपी (Real GDP) कहा जाता है।

नॉमिनल जीडीपी (Nominal GDP) – जब GDP की गणना मार्केट प्राइस (वर्तमान मूल्य) पर की जाती है, तो इसे नॉमिनल जीडीपी (Nominal GDP) कहा जाता है।

एनडीपी क्या है? (NDP kya hai)

जब GDP में से मूल्यह्रास (Depreciation) को घटा दिया जाता है, तो यह शुद्ध घऱेलू उत्पाद कहलाता है।

Formula of NDP in Hindi:

NDP (शुद्ध घऱेलू उत्पाद ) = जीडीपी (GDP) – मूल्यह्रास (Depreciation)

मूल्यह्रास क्या होता है?

(Depreciation in Hindi): किसी सम्पत्ति के मूल्य में किसी भी कारण से होने वाली धीरे-धीरे स्थायी कमी को मूल्यह्रास (Depreciation) कहा जाता हैं।

इकॉनमी में काम करने वाली बहुत-सी संपत्तियों (मशीनी इकाइयां) में धीरे-धीरे घिसावट आने लगती है और इसप्रकार उनका मूल्य घटने लगता है। घिसावट की इन लागतों को अवमूल्यन या मूल्यह्रास (Depreciation) के रूप में पहचाना जाता है।

GDP Calculation in India:

भारतीय अर्थव्यवस्था के तीन प्रमुख क्षेत्रों कृषि, उद्योग, और सेवा के उत्पादन और प्रदर्शन का आंकलन कर GDP की गणना की जाती है। सरकार के द्वारा GDP Calculation के आँकड़े वार्षिक तौर पर और प्रत्येक तिमाही में जारी किये जाते है।

निष्कर्ष (Conclusion)

मैं आशा करता हूँ कि, आपको जीडीपी क्या है? (GDP kya hai) से जुड़ा यह आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा होगा और नेशनल इनकम व अर्थव्यवस्था के विषय से जुड़ी ये जानकारियां आपको अच्छी लगी होगी।

आपको अगर जीडीपी (GDP) से जुड़ा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने परिचितों एवं शेयर मार्केट, फाइनेंस और अर्थव्यवस्था को जानने-समझने के लिए इच्छुक लोगों के साथ इसे शेयर ज़रूर करें।

इस विषय पर आपके और कोई आपके प्रश्न है, तो आप नीचे Comment Section में ज़रूर लिखें। मैं आपके सवालों का जवाब देने प्रयास करूँगा। शेयर मार्केट, फाइनेंस और अर्थव्यवस्था जुड़ी नयी जानकारियों के लिए इस वेबसाइट से जुड़े रहें।

इन्हें भी विस्तार से पढ़ें (Related Post) –

Share this:

Leave a Comment