What is Financial Planning in Hindi_ What is Financial Planning kya hai

फाइनेंसियल प्लानिंग क्या है? | What is Financial Planning in Hindi

Financial Planning in Hindi: फ्रैंड्स, फाइनेंसियल प्लानिंग पर्सनल फाइनेंस (फाइनेंस क्या है?) का एक इंपॉर्टेंट पार्ट है। व्यक्ति को जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हर एक स्टेप में प्लानिंग और डिसीजन की आवश्यकता होती है।

ठीक ऐसे ही जब बात व्यक्ति की पर्सनल फाइनेंस की आती है तो फाइनेंसियल प्लानिंग एक इंपॉर्टेंट फेक्टर होता है।

फाइनेंसियल प्लानिंग एक गाइड के रूप में कार्य करता है, जिसके द्वारा आप अपने फाइनेंसियल गोल को पाने के लिए फाइनेंसियल प्लानिंग करते हैं।

फाइनेंसियल प्लानिंग का अर्थ (Meaning of Financial Planning in Hindi)

फ्रैंड्स, फाइनेंसियल प्लानिंग के द्वारा आप अपनी फाइनेंसियल कंडीशन को बेहतर करने का प्रयास करते है।

फाइनेंसियल प्लानिंग का अर्थ व्यक्ति के जीवन जुड़े विभिन्न आर्थिक कार्यों, दायित्वों और लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बनाए जाने वाले योजनाओं से है।

फाइनेंसियल प्लानिंग को हिंदी भाषा में (Financial Planning Meaning in Hindi) – वित्तीय योजना कहा जाता है ।

फाइनेंसियल प्लानिंग निश्चित रूप से आपके आय, व्यय, बचत और निवेश को मैनेज करने का काम करता है, जिससे आप अपने धन का प्रबंधन कर सकें और अपने फाइनेंसियल गोल को प्राप्त कर सकें।

फाइनेंसियल प्लानिंग की आवश्यकता क्यों हैं? Why Financial Planning is Important?

किसी भी व्यक्ति को अपने इच्छाओं और लक्ष्यों को पूरा करने के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन अर्थात धन/पैसों की जरूरत होती है। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि, आपके पास सही समय मतलब ज़रूरत के समय में ही पर्याप्त मात्रा में धन होने चाहिए।

जैसे इसे एक उदाहरण के साथ समझते हैं: अगर आप अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए 15,00,000 रुपए का एक फंड बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको धीरे-धीरे अपने निवेश को बढ़ाना होगा। ताकि जब आपका बच्चा 18-19 वर्ष की आयु में उच्च शिक्षा के लिए जाए, तो उसे फंड को लेकर किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना हो।

ठीक ऐसे ही जीवन के दूसरे लक्ष्य जैसे स्वास्थ्य, मकान निर्माण, कार या हाउस लोन, मैरिज जैसे बड़े कार्यों के लिए प्रत्येक व्यक्ति को बड़ी मात्रा में धन की आवश्यकता होती है और यह धन आप एक दिन में नहीं जुटा सकते हैं।

इसीलिए जीवन के सभी कार्यों और उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए एक बेहतर फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning) की आवश्यकता प्रत्येक व्यक्ति को होती है।

फाइनेंसियल गोल क्या है?

व्यक्ति को जीवन के विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए बड़ी मात्रा में धन की आवश्यकता होती है। इस धन की व्यवस्था करने के लिए आय, व्यय, बचत और निवेश को लेकर हम जो लक्ष्य तय करते हैं, इसे ही वित्तीय लक्ष्य (Financial Goals) के रूप में समझा जाता हैं

फाइनेंसियल प्लानिंग के लाभ (Benefits of Financial Planning)

फ्रैंड्स, फाइनेंसियल प्लानिंग करने से आपके न केवल फाइनेंसियल गोल पूरे होते हैं बल्कि इससे बहुत सारे व्यवहारिक लाभ भी मिलते हैं:

बेहतर जीवन स्तर (Better standard of living)

एक अच्छा फाइनेंसियल प्लानिंग करने से भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ उठाने के साथ ही साथ अपने लोन, ईएमआई, टैक्स जैसे विभिन्न दायित्व को भी आसानी से आप उठा पाते हैं। आप अपने एक बेहतर जीवन स्तर को फाइनेंसियल प्लानिंग के द्वारा बनाए रख सकते हैं।

बचत में वृद्धि (Increasing Savings)

हमारे खर्चीली स्वभाव के कारण हमसे पैसों की बचत ना के बराबर हो पाती है, लेकिन फाइनेंसियल प्लानिंग करने से आपको अपने आय और व्यय को लेकर एक दृष्टिकोण मिलता है। जिससे आप अपने खर्चों में कमी कर बचत को बढ़ाने का प्रयास करते हैं।

आपका यही बचत आगे जाकर आपको बड़े कार्यों को पूरा करने के लिए बहुत अधिक मदद करता है।

निवेश में वृद्धि (Increasing Investments)

फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning) करने से जहां एक ओर हमारे बचत करने की प्रवृत्ति में वृद्धि होती है तो वहीं दूसरी ओर हमारे निवेश करने की क्षमता में भी वृद्धि होती है।

हम शेयर, म्युचुअल फंड, बॉन्ड, फिक्स डिपाजिट और रियल स्टेट जैसे निवेश के विभिन्न विकल्पों (Financial tips in Hindi) में निवेश की योजना तैयार करते हैं। ताकि एक समय के बाद हमें हमारे निवेश का अच्छा रिटर्न भी मिले और हमारे लॉन्ग टर्म फाइनेंसियल गोल भी पूरे हो सकें।

इमरजेंसी की तैयारी (Preparation for Emergency)

हमें से प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में किसी न किसी समय कोई न कोई समस्या सामने आती ही है और उस समस्या से निपटने के लिए हमें ना जाने क्या-क्या कष्ट उठाने पड़ते है।

इस प्रकार की समस्या से हमारा पूरा बजट प्रभावित हो जाता है। फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning) की मदद से हम एक ऐसे इमरजेंसी फंड को तैयार कर सकते हैं। यह इमरजेंसी फंड इस प्रकार के संकट के समय हमें पर्याप्त राहत दे पाए और हम उस समस्या से आसानी से निपट सकें।

निष्कर्ष (Conclusion)

आशा करता हूँ कि, आपको यह आर्टिकल फाइनेंसियल प्लानिंग क्या है? (What is financial planning in Hindi) पढ़कर अच्छा लगा होगा और फाइनेंसियल प्लानिंग के लाभ से जुड़ी ये जानकारियां आपके लिए लाभदायक रही होगी।

अगर आपको फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning kya hai) से जुड़ा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने परिचितों और शेयर मार्केट/फाइनेंसियल सेक्टर को जानने-सीखने के लिए इच्छुक लोगों के साथ इसे शेयर ज़रूर करें।

इस विषय पर आपके और कोई आपके प्रश्न है, तो आप नीचे Comment Section में ज़रूर लिखें। हम आपके सवालों का जवाब देने प्रयास करेंगे। शेयर मार्केट और फाइनेंसियल सेक्टर जुड़ी नयी जानकारियों के लिए इस वेबसाइट से जुड़े रहें।

इन्हें भी विस्तार से पढ़ें (Related Post) –

Share this:

Leave a Comment

error: Content is protected !