Disadvantages of Shares. शेयरों के नुकसान / शेयर मार्केट में निवेश के नुकसान

शेयर के नुकसान | शेयर मार्केट में निवेश के नुकसान | Disadvantages of Shares.

शेयर के नुकसान | शेयर मार्केट में निवेश के नुकसान: शेयरों पर लाभ होने के साथ ही साथ शेयर मार्केट में शेयरों पर निवेश के कुछ नुकसान भी होते है। इसलिए इन बातों को ध्यान में रखते हुए सही निवेश प्रक्रिया को अपनाने का प्रयास करना चाहिए और शेयर के नुकसान या शेयर मार्केट में निवेश के नुकसान को कम करने की कोशिश करनी चाहिए।

शेयर के नुकसान (Disadvantages of Shares)

Risk (जोखिम)

कंपनियों के शेयर पर उनकी वृद्धि के अनुमानों और विश्वास के आधार पर निवेशकों के द्वारा पैसा लगाया जाता है। अगर कंपनियां अच्छा काम करती है और लाभ कमाती हैं तो इसका लाभ शेयरधारकों को प्राप्त होता है। लेकिन कंपनियों को घाटा होता है तो उनकी शेयर्स की कीमतें गिरने लगती हैं और निवेशकों को हानि होता है।

Limited Control (सीमित नियंत्रण)

शेयर बाजार में छोटे निवेशकों का कंपनियों के शेयर पर कम निवेश होता है, जिसके कारण वोटिंग अधिकारों का प्रयोग कर कंपनी के निर्णय को प्रभावित करना मुश्किल होता है।

Dividend Not Determined (लाभांश निर्धारित नहीं)

शेयर धारक अपने मिलने वाले लाभांश का निर्धारण नहीं कर सकता है। कंपनी का मैनेजमेंट इस बात को तय करता है कि, लाभांश कितना दिया जाएगा।

Time (समय)

शेयर बाजार में शेयर्स पर किया जाने वाला निवेश और उस पर मिलने वाले अनुमानित लाभ का समय निर्धारित करना कठिन होता है।आपको लाभ तुरंत भी प्राप्त हो सकते हैं या इस पर बहुत ज्यादा समय भी लग सकता है।

Volatile Market Price (अस्थिर बाजार मूल्य)

शेयर्स के बाजार मूल्यों में अत्यधिक भिन्नता होती है। मार्केट से मुनाफा बुक करना थोड़ा कठिन होता है और नुकसान की संभावनाएं बनी रहती हैं।

Competition (प्रतियोगिता)

संस्थागत निवेशकों और प्रोफेशनल ट्रेडर्स जो शेयर मार्केट में बहुत ज्यादा अनुभव रखते हैं और विभिन्न ट्रेडिंग टेक्निक्स के जानकार होते हैं। ऐसे में आपको मार्केट से लाभ या एडवांटेज लेना थोड़ा मुश्किल होता है।

विस्तार से पढ़ें –

Share this:

Leave a Comment